मंगलवार, 9 अक्तूबर 2012

रामदूत रक्षा करो , जय जय श्री हनुमान



हरिः  ॐ तत्सत् महाभटचक्रवर्ती रामदूताय नमः

जब संकट आए कोई , हों व्याकुल मन प्राण.
शत्रु  शक्तिशाली  करे   मारक शर - संधान .
स्मरण करे एकाग्र हो , करे  बस  यही गान -
" रामदूत  रक्षा  करो ,  जय जय श्री हनुमान "

-- अरविंद पाण्डेय 



3 टिप्‍पणियां:

  1. सुंदर रक्षासूत्र ...!!
    आभार .....!!

    उत्तर देंहटाएं
  2. behtarin aradhna aradhya Dev ki...sabad sanyojan kamal ka hai.lagta hai jaise ki hum sada-2 se is pavitra gaan or mantra ko padhte or sunte aa rahe hai...maan me na keval pavitrata aati hai balki samasyaon me kafi sambal deta hai...jai sri ram

    उत्तर देंहटाएं

आप यहाँ अपने विचार अंकित कर सकते हैं..
हमें प्रसन्नता होगी...