शनिवार, 16 जून 2012

सितारे खिल उठे , अब चाँद मुस्कुराएगा


2 टिप्‍पणियां:

  1. नाम तुम्हारा जोड़ रहा जो, भला कोई क्या तोड़ेगा..

    उत्तर देंहटाएं
  2. ज़रूर मुस्कुरायेगा चाँद..............

    सुन्दर रचना

    अनु

    उत्तर देंहटाएं

आप यहाँ अपने विचार अंकित कर सकते हैं..
हमें प्रसन्नता होगी...