गुरुवार, 24 मई 2012

प्रश्न हमारा स्वयं प्रश्न बन कर उत्तर भी होगा..

अरविंद पाण्डेय 

1 टिप्पणी:

  1. न जाने किसकी साँसों में उद्भव होते हैं ये ब्रह्माण्ड...

    उत्तर देंहटाएं

आप यहाँ अपने विचार अंकित कर सकते हैं..
हमें प्रसन्नता होगी...