मंगलवार, 12 अप्रैल 2011

मन रे जपो जय राम




श्री रामनवमी के महापर्व पर
प्रभु श्री राम की उन्हीं के पुत्र द्वारा
स्वर-सेवा.
===========
मन रे जपो जय राम.
जय जय राम.
मन रे जपो जय राम.

राम नाम है पाप-विनाशक
देता हरि का धाम
मन रे जपो जय राम
१ .
विमलबुद्धिदायक सुखदायक रघुनायक प्रभु राम.
जय जय राम .
नीलकमल-सम-नयन-समुज्ज्वल .
ध्यान करो शुभ-धाम.

मन रे जपो जय राम.
सजल-जलद-सुन्दर-तनु-शोभित, सकल-भुवन-आधार .
शंख-चक्र-वर-अभय लिए जो पालें सब संसार.
मन रे जपो जय राम .
जय जय राम.
मन रे जपो जय राम.
नाम लिया तो गया अजामिल भव-सागर के पार .
कलि में राम भजन की साधो .
महिमा अमित अपार.

मन रे जपो जय राम .
जय जय राम.
मन रे जपो जय राम.
===========

Worship by Voice to My Lord
Shri Ramchandra
on His Birthday :
Ram Navami .

अरविंद पाण्डेय 

4 टिप्‍पणियां:

  1. रामनवमी की हार्दिक शुभकामनाएँ|

    उत्तर देंहटाएं
  2. परम आदरणीय सर, रामनवमी के शुभ अवसर प़र बहुत ही सुंदर प्रस्तुति हैं ......जय श्री राम !!!!!

    उत्तर देंहटाएं
  3. बहुत सुन्दर ! एक सच्चे भक्त का सच्चा समर्पण.......

    उत्तर देंहटाएं

आप यहाँ अपने विचार अंकित कर सकते हैं..
हमें प्रसन्नता होगी...